भारतीय टीम में इस समय विकेटकीपर बल्लेबाज की भूमिका को लेकर काफी माथापच्ची चल रही है। भारतीय टीम के चयनकर्ताओं समेत टीम मैनेजमेंट, कोच और कप्तान सभी की निगाहें अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के साथ-साथ आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप पर हैं। इस बीच भारतीय टीम के लिए मिडिलऑर्डर के साथ-साथ विकेटकीपर बल्लेबाज ने भी परेशानी बढ़ा रखी है।

दरअसल, अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धौनी वर्ल्ड कप 2019 के बाद से क्रिकेट से दूर हैं और बाकी विकेटकीपर बल्लेबाज फेल साबित हो रहे हैं। हालांकि, भारतीय टीम ने रिषभ पंत को अल्टीमेटम दे दिया है कि उन्हें अच्छा प्रदर्शन करना होगा, नहीं तो उनकी जगह टीम से खत्म हो सकती है। इसी बीच भारतीय टीम के लिए काफी मैच खेल चुके विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने भी भारतीय टीम में जगह बनाने के संकेत दिए हैं।

27 विकेटकीपर हैं सामने

विजय हजारे ट्रॉफी में अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन कर रहे पार्थिव पटेल ने कहा है कि भारतीय चयनकर्ता और मैनेजमेंट उनकी तरफ नहीं देख रहे। अगर कोई विकेटकीपर बल्लेबाज भारतीय टीम में जगह बनाने की कोशिश करेगा तो उसको बाकी 27 विकेटकीपरों से इस एक स्थान के लिए लड़ाई लड़नी होगी। अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए पार्थिव पटेल ने कहा है मैं 34 साल का हूं और कोई मेरी तरफ देख ही नहीं रहा।

धौनी की जगह कोई नहीं ले सकता

जनवरी 2018 में आखिरी टेस्ट मैच खेलने वाले पार्थिव पटेल घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। एमएस धौनी के कारण साइडलाइन हुए पार्थिव पटेल ने कहा है कि धौनी ने खुद को साबित करके दिखाया है। अब धौनी टीम का हिस्सा नहीं हैं। अगर अब हम धौनी की जगह लेंगे तो हमारी लिए बहुत कठिन होगा। इसलिए मुझे अब इस बारे में सोचना नहीं है। मैं जहां भी खेलता हूं मन से खेलता हूं।

Live Cricket Live Share Market