पटना [जेएनएन]। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की बहू ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) ने सास राबड़ी देवी (Rabri Devi) पर ससुराल से निकाल देने का आरोप लगाया है। घर के बाहर से ऐश्‍वर्या ने गेट खुलवाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहीं। इसके बाद वे माता-पिता के साथ आवास के बाहरी भाग में आमरण अनशन व धरना पर बैठ गईंं। इसी बीच पिता चंद्रिका राय (Chandrika Rai) डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से मिलने पहुंचे। लेकिन जब मिलकर वापस आए तो उन्हें राबड़ी आवास नहीं घुसने नहीं दिया गया। इस पर वे राबड़ी आवास के बाहर ही बैठ गए। इधर, चंद्रिका समर्थक भी काफी संख्या में राबड़ी आवास पहुंच गए हैं। वहां पर काफी हंगामा हो रहा है। हंगामा की जानकारी मिलते ही सचिवालय थाना की पुलिस भी पहुंच गई है। जबकि, ऐश्वर्या का कहना है कि जब तक घर में एंट्री नहीं मिल जाती, आमरण-अनशन व धरना जारी रहेगा।

बताया जाता है कि ऐश्वर्या राय को राबड़ी आवास से बेदखल किए जाने के मामले में देर रात ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका यादव बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) से मिलने पहुंचे। जबकि, मां पूर्णिमा राय (Purnima Rai) धरना दे रहीं बेटी ऐश्वर्या के पास ही मौजूद हैं। सूत्रों की मानें तो डीजीपी ने उन्हें इंसाफ का आश्वासन दिया है। बताया जाता है कि जब चंद्रिका राय वापस लौटे तो राबड़ी आवास परिसर में सुरक्षा गार्ड उन्हें नहीं घुसने दिया। तब वे राबड़ी आवास के मेन गेट पर ही धरना देने के लिए बैठ गए हैं। उनका कहना है कि जब तक इस पर कुछ फैसला नहीं होता है, तब तक ऐश्वर्या को राबड़ी आवास में ही रहने दिया जाए।

इसी बीच पूरे मामले की जानकारी मिलते ही चंद्रिका राय के समर्थक काफी संख्या में राबड़ी आवास पहुंच गए हैं। छपरा व आसपास के इलाकों के पहुंचे लोग भी चंद्रिका राय के साथ धरना पर बैठ गए हैं। साथ ही हंगामा कर रहे हैं। सचिवालय थाना की पुलिस उन्हें शांत कराने में जुटी है।

बता दें कि बड़े राजनीतिक परिवार की बेटी ऐश्‍वर्या राय की शादी लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के साथ हुई है। लेकिन शादी के छह महीने के भीतर ही तेज प्रताप यादव ने पत्‍नी से तलाक का मुकदमा दायर कर दिया। मुकदमा कोर्ट में लंबित है। इस बीच ऐश्‍वर्या राय ने पहली बार अपना मुंह खाेलते हुए सास राबड़ी देवी पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्‍हें घर से धक्‍के मारकर बाहर निकाल दिया गया है। अब ऐश्वर्या राय राबड़ी आवास में ही रहने की जिद पर अड़ गईं हैं। उनका कहना है कि तलाक हुआ नहीं है, इसलिए ससुराल में रहना उनका हक है।

ऐश्‍वर्या के अनुसार, राबड़ी देवी उन्‍हें जून महीने से खाना नहीं देतीं। उनका खाना पिता के घर से आता है। वे बीती रात से भूखी हैं। नवरात्र के पहले दिन पानी पीने के लिए उन्‍होंने किचेन की चाबी मांगी तो ननद मीसा भारती ने सास राबड़ी देवी के सामने दुर्व्‍यवहार किया, फिर धक्‍के देकर घर से निकाल दिया।

ऐश्‍वर्या ने बताया कि उनके कपड़े घर में ही हैं। बारिश हो रही है। ऐसे में उन्‍हें घर में एंट्री नहीं दी जा रही है। गेट पर पूछने पर अंदर से सुरक्षाकर्मी ने जवाब दिया कि उनके लिए गेट नहीं खोलने का अंदर से आदेश है।

इसके पहले वहां पहुंचीं महिला आयोग की प्रोटेक्‍शन अधिकारी प्रमिला ने बताया कि राबड़ी देवी ने ऐश्‍वर्या से जान का खतरा बताते हुए उन्‍हें एंट्री देने से इनकार कर दिया है।

बहरहाल, ऐश्वर्या राय का राबड़ी आवास के बाहरी हिस्‍से में धरना जारी है। इस मामले में ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय धरना से निकलकर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से मिलने भी गए। सूत्रों की मानें तो डीजीपी ने उन्हें इंसाफ का आश्वासन दिया है।

Live Cricket Live Share Market